एक्यूप्रेशर पद्धति के द्वारा कुछ उपचार

अंगूठा दबाने से सिर दर्द दूर हो जाता हैं और दिमाग की सारी दुर्बलताएं दूर होती हैं। दूसरी उंगली के ठीक नीचे वाले पाइंट को दबाने से फेफड़े स्वस्थ होते है।

एक्यूप्रेशर पद्धति के द्वारा कुछ उपचार

एक्यूप्रेशर पद्धति के द्वारा कुछ उपचार

एक्यूप्रेशर पद्धति के द्वारा कुछ उपचार

1. अंगूठा दबाने से सिर दर्द दूर हो जाता हैं और दिमाग की सारी दुर्बलताएं दूर होती हैं।

2. चारो उंगली के ऊपर का हिस्सा दबाने से साइनस ठीक होता हैं जैसे नाक बहना, सर्दी लगना, खाँसी जुकाम, माइग्रेन आदि 

3. पहली उंगली (तर्जनी) के ठीक नीचे वाले पाइंट को दबाने से आँखों के रोग दूर होते हैं, ज्योति बढ़ती हैं, बंहगापन दूर होता हैं।

4. दूसरी उंगली के ठीक नीचे वाले पाइंट को दबाने से फेफड़े स्वस्थ होते है।

5. छोटी उंगली के नीचे वाले पाइंट को दबाने से कान के सभी रोग दूर होते हैं, जैसे कान से मवाद आना, कम सुनाई देना, पर्दा फट जाना, इससे थोड़ा और नीचे दबाने से हृदय रोग दूर होते हैं।

6. हथेली के उभरे हुए भाग को दबाने से (अंगूठे के पास) थायराइड़ ठीक होता हैं।

7. दूसरी उंगली को मोड़कर जिस पाइंट पर लगेगी उस पाइंट को दबाने पर किड़नी स्वस्थ होती हैं एवं किड़नी के रोग दूर होते हैं।

8. हथेली की शुरूआत में, हाथ की कलाई के मध्य भाग को दबाने से मूत्र संबन्धित रोग दूर होते हैं।

9. अंगूठे के दायी और बायी तरफ से दबाने पर, गर्दन में दर्द या कमर में दर्द रोग दूर होता हैं।

10. छोटी उंगली के नीचे, हथेली के नीचे साईड की और पाइंट दबाने पर कन्धे के दर्द के रोग दूर होते हैं।

11. हथेली के बीचों बीच दबाने पर पेट स्वस्थ रहता हैं।

12. बड़ी उंगली के ऊपरी हिस्से को दबाने पर निम्न रक्तचाप संतुलित होता हैं।

13. अनामिका उंगली के ऊपरी भाग को दबाने पर हाई रक्तचाप संतुलित होता हैं।

14. घुटना के दर्द दूर करने के लिए. अनामिका उंगली को पीछे के तरफ से पूरी उंगली को दबाये।

15. छोटी उंगली के ऊपरी भाग को दबाने से, छोटे बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना छूट जाता हैं।

You are Viewing This Page of site https://rajyantra.com

Social Share

You might also like!