ज्योतिष

षष्ठेश का फल
पंचमेश का फल
सुखेश चतुर्थेश का फल
तृतीयेश का फल
तृतीयेश का फल
RAJKUMAR JAIN 18-6-2021

जब तृतीयेश तीसरे स्थान में हो तो मनुष्य पराक्रमी, पुत्रो से युक्त, धनवान, अति प्रसन्न और अदभुत सुख का भोग करने वाला होता है।

राजयंत्र विशेष

नवमेश का फल
नवमेश का फल

भाग्येश जब भाग्य-स्थान में हो तो व्यक्ति धनधान्य से युक्त होता है। उसे बहुत भ्राताओं से सुख मिलता है और वह गुणवान तथा रूपवान होता है।

अष्टमेश का फल
अष्टमेश का फल

जब अष्टमेश छठे अथवा बारहवें स्थान में हो तो व्यक्ति नित्य रोगी होता है। बाल्यावस्था में उसको जल तथा सर्प से भय होता है।